UP Hightech City: यूपी के इस रिंग रोड के किनारे पर बसेगा नया हाईटेक शहर, लोगों को मिलेगी ये खास सुविधाएं

Manoj aggarwal
2 Min Read

उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री शहरी विस्तारीकरण योजना (Chief Minister Urban Expansion Scheme) के तहत एक भव्य पहल की है, जिसके अंतर्गत प्रदेश के चार प्रमुख शहरों में नई टाउनशिप विकसित की जाएगी।

इस परियोजना के लिए 4000 करोड़ रुपये का विशाल बजट (Budget) आवंटित किया गया है, जिसमें से 1000 करोड़ रुपये केवल ग्रेटर बनारस के विकास के लिए निर्धारित हैं।

ग्रेटर बनारस है एक नई संकल्पना

रिंग रोड के किनारे बसने वाले ग्रेटर बनारस (Greater Banaras) के लिए विकास प्राधिकरण ने एक विस्तृत योजना तैयार की है। इस नई टाउनशिप में मॉल, होटल, अस्पताल और बाजार जैसी सुविधाएँ विकसित की जाएंगी, जिससे आस-पास के गांवों का विकास भी तेजी से हो सकेगा।

विकास की नई राहें

ग्रेटर बनारस के विकास से हरहुआ से लेकर राजातालाब तक के गांवों के दिन बहुरेंगे (Development)। इस क्षेत्र में आईटी इंडस्ट्रीज, ग्रीन एरिया, कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स और अन्य सुविधाओं का विकास होगा, जिससे स्थानीय निवासियों को रोजगार के नए अवसर (Employment Opportunities) मिलेंगे।

शहरी दबाव में कमी

ग्रेटर बनारस की स्थापना से प्राचीन बनारस शहर पर पड़ने वाले भीड़ के दबाव में कमी आएगी। नई टाउनशिप में सुविधाएँ उपलब्ध होने से दूसरे जिलों और प्रदेशों से आने वाले लोगों को शहर के बाहर ही सभी आवश्यकताएँ पूरी होंगी, जिससे शहर का भार कम होगा।

नई टाउनशिप होगी विकसित

मुख्यमंत्री शहरी विस्तारीकरण योजना का मुख्य उद्देश्य नई टाउनशिप विकसित करना है, जिससे शहरी क्षेत्रों में विकास को एक नई दिशा मिलेगी। इस योजना के तहत जमीन अधिग्रहण और विकास कार्यों में सरकार और विकास प्राधिकरण दोनों की भागीदारी होगी।

Share this Article