Today Onion Price: सरकार के इस ऐलान के बाद औंधे मुंह गिरी प्याज की कीमतें, एक दो किलो की जगह बोरीयां भर भरके खरीद रहे लोग

Mohini Kumari
2 Min Read

सरकार ने प्याज की कीमतों में भारी उछाल को देखते हुए प्याज के निर्यात पर प्रतिबंधों को 31 मार्च तक बढ़ा दिया है। सरकार इस कदम से प्याज की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए घरेलू बाजार में प्याज की सप्लाई बढ़ाना चाहती है।

प्याज की कीमतों में तेजी देखते हुए ये कार्रवाई की गई है। सरकार ने 28 अक्टूबर से 31 दिसंबर तक प्याज के निर्यात पर 800 डॉलर प्रति टन का मिनिमन निर्यात मूल्य निर्धारित किया था।

रॉयटर्स ने बताया कि इसे 31 दिसंबर तक बढ़ा दिया गया है। इस कदम से प्याज की घरेलू सप्लाई बढ़ेगी और एक्सपोर्ट में कमी आएगी, जिससे कीमतें नियंत्रित रहेंगी।

कीमतों में वृद्धि का महंगाई दर पर असर हो सकता है

पिछले एक वर्ष में प्याज की कीमतें लगभग दोगुना हो गई हैं। 29 नवंबर को जारी आंकड़ों के अनुसार, देश भर में प्याज की खुदरा कीमत 57.85 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई। जो पिछले वर्ष 29.76 रुपये प्रति किलो पर थी।

यानी कीमतों में एक वर्ष में ९४% से अधिक की वृद्धि हुई है। रॉयटर्स के एक पोल के अनुसार प्याज सहित कई अन्य खाद्य पदार्थों की कीमतों में बढ़त से नवंबर में खुदरा महंगाई दर फिर से 6 फीसदी के करीब पहुंच सकती है।

पोल के मुताबिक नवंबर में लगातार तीन महीने की गिरावट के बाद प्याज, टमाटर और दालों की कीमतों में तेजी से महंगाई एक बार फिर बढ़ सकती है।

वहीं नवंबर में प्याज और टमाटर अक्टूबर से 58% और 35% महंगा हो गया है। रिजर्व बैंक दरों की समीक्षा करने के लिए सिर्फ कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स को देखता है।

Share this Article