Chanakya Niti: मर्द को कभी भी इन महिलाओं को नही बनाना चाहिए अपनी पत्नी, भले ही महिला कितनी भी क्यों ना हो सुंदर और जवां

Mohini Kumari
2 Min Read

पति-पत्नी के बीच सही उम्र का अंतर होना जरुरी होता है, वरना इससे पति-पत्नी के रिश्ते में समस्याएं आ सकती है, जैसा कि आचार्य चाणक्य ने बताया है।

नीतिशास्त्र में स्त्री-पुरुष संबंधों पर आचार्य चाणक्य ने बहुत कुछ कहा है। नीति शास्त्र में आचार्य चाणक्य ने गृहस्थ जीवन में आने वाली समस्याओं और उनसे छुटकारा पाने के उपाय भी बताए हैं। स्त्री-पुरुष चाणक्य सिद्धांतों का पालन कर सुखी दाम्पत्य जीवन जी सकते हैं।

उम्र का फर्क

आचार्य चाणक्य ने कहा पति-पत्नी के रिश्ते में शारीरिक और मानसिक स्वस्थ्य की आवश्यकता होती है। दोनों की उम्र में ज्यादा अंतर होने से शादी के बाद रिश्ते में काफी उतार चढ़ाव आ सकता है।

वह एक दूसरे की आवश्यकताओं को पूरा नहीं कर पाएंगे। वृद्ध पुरुष को एक युवा महिला से शादी नहीं करनी चाहिए। ये विवाह बेमेल है। ऐसी शादियां कभी भी कामयाब नहीं होती और दोनों पक्ष बर्बाद हो जाते हैं।

अपमानित करना

दाम्पत्य जीवन में खुशियां चाहते हैं तो चाणक्य नीति कहता है कि भूलकर भी एक दूसरे को नीचा न दिखाएं। पति-पत्नी इस पवित्र रिश्ते के नियमों का सम्मान करें और उनका पालन करें। जिस घर में पति-पत्नी एक दूसरे को अपमानित करते हैं, वहाँ वैवाहिक जीवन तनावपूर्ण होता है।

रखें ध्यान

चाणक्य के अनुसार, पति-पत्नी का रिश्ता पवित्र है और इसे मजबूत करना आवश्यक है। पति-पत्नी एक-दूसरे की आवश्यकताओं को नहीं मानते तो जीवन खुशहाल नहीं होगा। चाणक्य कहते हैं कि पति-पत्नी का रिश्ता हमेशा सौहार्दपूर्ण और प्यारपूर्ण होना चाहिए।

Share this Article