सत्ता के लालच में यहां अपनी ही बहन से कर लेते है शादी, जाने कहां है ये अजीबोगरीब कानून

Mohini Kumari
3 Min Read

अंतरराष्ट्रीय समाज में कई अजीब परंपराएं हैं, जो वर्षों से चल रही हैं और आज भी जारी हैं। पर कई परंपराएं बहुत सालों पहले समाप्त हो गईं, क्योंकि वे इतनी अलग थीं कि आज की पीढ़ी उनका स्मरण कभी नहीं करती। प्राचीन मिस्त्र में भी ऐसी ही विचित्र परंपरा थी, जहां पुरुष अपनी बहन से शादी करते थे (भाई-बहन शादी) या अपनी बेटी से शादी करते थे (पिता-बेटी शादी की परंपरा)। यह परंपरा सुनने में इतनी अजीब है कि इसका कारण भी अजीब है। चलिए हमें बताओ कि आखिर ऐसा क्यों हुआ।

राजा और शाही परिवारों के कई सदस्यों ने प्राचीन मिस्र (पुराना मिस्र की शादी की परंपरा) में अपने ही परिवार में शादी कर ली। राजा रैमेसेस द्वतीय, जिन्होंने अपनी ही बेटी से शादी की, और रानी क्लियोपैट्रा-7, जिन्होंने अपने भाई से शादी की, इनमें से सबसे प्रसिद्ध नाम हैं। 30 ईसा पूर्व से लेकर 395 एडी तक रोमन शासन में मिस्र में शादियां होना आम था।

मिस्र में भाई-बहन की हो जाती थी शादी

मिस्र के राजा अक्सर एक से अधिक विवाह करते थे। इनब्रीडिंग अक्सर अगली पीढ़ी में कई बीमारियां पैदा करती थीं। मिस्र के दो प्रमुख देवता, ओसिरिस और आईसिस, एक दूसरे से शादी कर चुके थे। इसलिए परिवार में शादी की परंपरा को आम माना जाता था।

स्विट्जरलैंड की यूनिवर्सिटी ऑफ बेसल में प्रोफेसर सैबाइन ह्यूबनर का कहना है कि भाई-बहन या पिता-बेटी की शादियां मिस्र में रोमन लोगों से पहले ही शाही परिवार में होती थीं, लेकिन जब रोमन लोग मिस्र पर आ गए, तो आम लोगों में भी ऐसी शादियां होने लगीं। अब प्रश्न उठता है कि ऐसी शादियां क्यों हुईं?

ये था भाई-बहन की शादी का प्रमुख कारण

शाही परिवार के सदस्यों ने अपनी आने वाली पीढ़ी को शाही और स्वच्छ रखना चाहा। यही कारण था कि वे बहन-बेटी से शादी कर लेते थे, ताकि उनका बच्चा पूरी तरह से शाही खून से भरा होगा और सिंहासन के लिए योग्य होगा।

सत्ता हासिल करने के लिए उन्हें दावेदार हटाना चाहिए था, जो दूसरा कारण था। सत्ता के लिए लड़ाई नहीं होती थी अगर वे भाई-बहन होते। राजा-रानियों को देखकर आम लोग भी ऐसे विवाह करने लगे।

आर्थिक संतुलन आम लोगों की शादी का प्रमुख कारण था। अगर उनकी एकमात्र बेटी थी, तो माता-पिता शादी के बाद अपनी बेटी को छोड़ना नहीं चाहते थे, ताकि बुढ़ापे में उनकी देखभाल करने वाले कोई नहीं रहे।

इसलिए, बेटा बचपन में या शादी से कुछ वक्त पहले माता-पिता ने गोद ले लिया था। ऐसे में वे बच्चे को गोद लेकर बेटी से विवाह करते थे। ये घटना बहुत हैरान करने वाली है। दुनिया भर में ऐसी विचित्र परंपराएं होती रही हैं।

Share this Article