योगी सरकार के बजट में किसानों की हुई मौज, शुरू होंगी ये 3 नई योजनाएं और भी मिलेगा बहुत कुछ…

Manoj aggarwal
3 Min Read

योगी सरकार ने अपना आठवां बजट पेश किया, जिसके अंतर्गत योगी सरकार ने इस बजट में अपना फोकस ज्यादातर किसानों के ऊपर ही रखा है. वहीं वित्त मंत्री सुरेश खन्ना का कहना था कि इस बजट में ज्यादातर किसानों, महिलाओं और युवाओ के रोजगार को लेकर ज्यादा फोकस रखा गया है.

किसानों के लिए शुरू की है 3 योजनाएं

ज्यादातर किसानों के लिए योजनाएं बनाई गई है, जिसमें से तीन योजनाएं बहुत ही अधिक महत्वपूर्ण है. पहली योजना ‘राज्य कृषि विकास योजना’ के लिए 200 करोड रुपए आवंटित किए गए हैं.

वहीं ‘यूपी एग्रीज योजना’ के लिए भी 200 करोड रुपए आवंटित किए गए हैं. तीसरी योजना विकास खंडो और ग्राम पंचायतों में स्वचालित मौसम केंद्र तथा स्वचालित वर्षा मापी यंत्र लगाने के लिए बनाई गई है. इस योजना के लिए यूपी सरकार ने 60 करोड रुपए आवंटित किया.

खेत सुरक्षा योजना भी होगी शुरू

‘मुख्यमंत्री खेत सुरक्षा योजना’ के लिए भी सरकार ने 50 करोड रुपए आवंटित किए हैं. वहीं किसानों के ट्यूबवेल के लिए रियायती तौर पर दिए जाने वाले बिजली के लिए 2400 करोड रुपए का परिव्यय भी प्रस्तावित किया गया है.

इसके अतिरिक्त सुरेश खन्ना ने बताया कि ‘पीएम कुसुम योजना’ के तहत हुए 449.45 करोड़ रुपये की राशि भी सरकार द्वारा आवंटित की गई है.

पीएम किसान में 63000 करोड रुपए किये ट्रांसफर

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत 63000 करोड रुपए की राशि डीबीटी के जरिए बैंक अकाउंट में ट्रांसफर की गई है. यह राशि दिसंबर 2023 तक ट्रांसफर की गई है. इस राशि की मदद से 2 करोड़ 62 लाख किसानों के खातों में पैसे भेजे गए हैं.

गन्ना किसानों को भी मिलेगा फायदा वृद्ध किसानों को मंथली पेंशन

प्रधानमंत्री किसान मान धन योजना के तहत यूपी के कृषक जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है, उनको ₹3000 प्रति माह के हिसाब से मंथली पेंशन दिया जाएगा. इसके अतिरिक्त 2017 से लेकर जनवरी 2024 तक लगभग 46 लाख गन्ना किसानों को 2 लाख 33 हज़ार

793 करोड रुपए गन्ना के मूल्य के रूप में दिए जा चुके हैं. आपको बता दे कि यह मूल्य पिछले 22 साल के सम्मिलित गन्ना मूल्य से लगभग 20 हज़ार 264 करोड रुपए अधिक है.

Share this Article