कभी सोचा है कि बॉडी पर कैसे बनता है टैटू जो कभी नही उतरता, पहली बार देखे चमड़ी में कैसे बनते टैटू के निशान

Mohini Kumari
3 Min Read

आजकल बहुत से लोग टैटू बनाना पसंद करते हैं। टैटू पहले केवल कुछ विशिष्ट समुदायों में ही बनाए जाते थे। इसमें ट्राइबल पीपल थे। इनके टैटू का एक विशिष्ट उद्देश्य था। हर टैटू का एक कहानी और अलग कारण था।

लेकिन टैटू ने समय के साथ एक बड़ा उद्योग बन गया। अब आप स्थान-स्थान पर टैटू पार्लर देखेंगे। इन जगहों पर बैठे कलाकारों को विशेष प्रशिक्षण मिलता है, जिससे वे इस कला में विशेषज्ञता हासिल कर सकें।

अगर आप भी टैटू बनवा चुके हैं या बनवाने की सोच रहे हैं, तो पहले जानिए कि टैटू कैसे बनाए जाते हैं। आप जानते हैं कि ये टैटू बनते हैं जब शरीर में इंक लगाया जाता है।

लेकिन इनका पैटर्न कैसे निर्धारित किया जाता है? कैसे हल्के और गहरे टैटू बनते हैं? ज्यादातर लोग इन टैटू के निशान के बनने के पीछे एक विज्ञान को नहीं जानते।

शरीर ऐसे काम करता है

सोशल मीडिया पर टैटू बनाने का एक वीडियो शेयर किया गया। इसमें बताया गया है कि शरीर में टैटू लगाने के बाद क्या होता है? क्योंकि हमारी मांसपेशियों का काम करने का एक तरीका है। ऐसे में हमारी बॉडी कैसे प्रतिक्रिया देती है जब स्किन के अंदर इंक जाती है, जो बाहरी उत्पाद है?

दरअसल, टैटू बनाने के दौरान सुई इंक हमारी स्किन के लेयर्स में प्रवेश करता है। जब हम दर्द अनुभव करते हैं, तो हमारी शरीर व्हाइट ब्लड सेल्स को भेजती है, जो घावों को ठीक करते हैं। ये सेल्स स्किन की क्षति को कम करने में लग जाते हैं।

इस तरह बनते हैं निशान

इंक के पार्टिकल्स व्हाइट ब्लड सेल्स से छोटे होते हैं। इसलिए वह इंक को समाप्त नहीं कर सकते। व्हाइट ब्लड सेल्स की वजह से सुई चुभोने पर सूजन धीरे-धीरे कम होती है, लेकिन इंक रहता है।

ऐसे में टैटू के घाव सुख जाते हैं और इंक का निशान दिखाई देता है। इस तरह, टैटू का डिजायन हमेशा वैसा ही रहता है। अगर इन निशानों को हटाना चाहते हैं, तो लेजर ही एकमात्र विकल्प है। मरने पर भी ये निशान आपके साथ रहते हैं।

Share this Article