राजस्थान के कुछ हिस्सों में आफत की बारिश ने बढ़ाई परेशानी, बारिश के साथ बरसे ओलों ने किसानों की उड़ाई नींद

Mohini Kumari
3 Min Read

कोट रविवार को प्रदेश में एक नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हुआ, जिससे हाड़ौती अंचल में मौसम फिर बदल गया। दिन भर कोटा, बूंदी, बारां और झालावाड़ जिलों में बादल छाए रहे।

कोहरा छाया हुआ था।सर्द हवा चलती रही। झालावाड़ जिले के चौमहला में बड़ी मात्रा में बारिश हुई। बारिश होने से मौसम पूरी तरह से ठंडा हो गया। सर्दी तेज होने की उम्मीद है।

उधर, पाली में ओलावृष्टि ने फसलों को नुकसान पहुँचाया है। बारिश और ओलावृष्टि ने शादीशुदा परिवारों को नुकसान पहुंचाया है। यह चिंता का विषय है कि व्यवस्थाएं कैसे काम करेंगे।

सुबह 11 बजे तक कोटा में हल्की धूप खिली रही। दोपहर से शाम तक बादल छा रहे थे। सूर्य ने देवता को अपनी गोद में ले लिया। सर्द हवा चलती रही। इससे मौसम ठंडा हो गया।

सर्दी से बचने के लिए घरों में गर्म कपड़े पहने हुए नजर आए। शाम ढलने के बाद सर्दी तेज हो गई। नए कोटा की तुलना में पुराने कोटा में हरियाली और खुला रहने से अधिक सर्दी हुई।

यहां तापमान भी गिरा है। कोटा का सर्वोच्च तापमान 4 डिग्री गिरकर 24.4 डिग्री सेल्सियस रहा, जबकि न्यूनतम तापमान 1 डिग्री गिरकर 14.1 डिग्री सेल्सियस रहा, मौसम विभाग ने बताया। 5 किमी प्रति घंटे की हवा की रफ्तार रही।

छाया कोहरा, सर्द हवाओं ने ठिठुराया

बूंदी जिले में फिर से मौसम बदल गया। सुबह भर कोहरा छाया रहता था। कुछ देर बाद सूर्य देव को भी देखा गया। बाद में सूर्य देव को बादल ने अपनी गोद में ले लिया।

उच्चतम 25 डिग्री सेल्सियस और सबसे कम 10 डिग्री सेल्सियस था। रविवार को झालावाड़ जिले में बादल छाए रहे। ठंडी हवा भी ठंडा रही।

उच्चतम तापमान 28 डिग्रीे सेल्सियस था और सबसे कम 17 डिग्रीे सेल्सियस था। जिले के चौमहला और गंगधार में बादल छाए रहे। शाम को बारिश हो गई। इसके परिणामस्वरूप सड़कें गीली हो गईं।

आगे यह रहे मौसम

27 नवंबर को भी पश्चिमी विक्षोभ का असर रहेगा, मौसम विभाग का कहना है। इस तंत्र का प्रभाव कोटा, भरतपुर, अजमेर और जयपुर संभाग के कुछ क्षेत्रों में बारिश और मेघगर्जन के रूप में जारी रह सकता है। 28 नवंबर से मौसम शुष्क रहने की संभावना है, तापमान 2-4 डिग्री गिर जाएगा और कहीं-कहीं कोहरा होगा।

मेघ गर्जन के साथ बारिश हुई

बांसवाड़ा.रविवार को बांसवाड़ा, प्रदेश में एक नए पश्चिमी विक्षोभ का शिकार होगा। सुबह से बादल आसमान पर छाए रहे। ठंडी हवाओं से चलने से भी हवा ठंडी हो गई। दोपहर में कुछ देर बिजली कड़कने व मेघ गर्जन के साथ बारिश हुई। इससे तापमान भी घट गया है।

Share this Article