Haryana News: हरियाणा में खट्टर सरकार ने कर्मचारियों की कर दी मौज, सैलरी में कर दिया बड़ा इजाफा

Manoj aggarwal
2 Min Read

जमीनी विवादों को हल करने और जमीनी कागजों की देखरेख करने के लिए पटवारी पद की व्यवस्था की गई है। पटवारी पद पर काम करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण योग्यता पढ़ा-लिखा होना है. अगर कोई पटवारी हिसाब-किताब में कमजोर होगा, तो वह जमीनी मापतोल से संबंधित काम नहीं कर पाएगा। हरियाणा सरकार ने पटवारी पद के लिए पहले दसवीं की योग्यता निर्धारित की थी, लेकिन 2013 में इस पद की योग्यता 10वीं से 10वीं कर दी गई।

सैलरी में कोई परिवर्तन नहीं हुआ

2013 में हरियाणा के विकास एवं पंचायत विभाग में काम करने वाले सभी पटवारियों की योग्यता में बदलाव किया गया था, लेकिन उनकी सैलरी में कोई वृद्धि नहीं हुई। उन्हें सिर्फ दसवीं योग्यता स्तर की सैलरी मिलती थी, लेकिन अब विकास एवं पंचायत विभाग के महानिदेशक ने सभी ग्रेजुएट पास पटवारी को 1900 रुपये की जगह 2400 रुपये की ग्रेड पे देने की घोषणा की है।

31 दिसंबर से बढ़ा हुआ वेतन मिलेगा

31 दिसंबर 2023 से, जिले के सभी स्नातक पटवारियो को विकास एवं पंचायत विभाग से बढ़ा हुआ मासिक वेतन (2400-20200) और बढ़ा हुआ ग्रेड पे (2400) मिलेगा। इतने वर्षों बाद बढ़ा हुआ मासिक वेतन लागू होने से पटवारियो को काफी राहत मिलेगी। पिछले लगभग दस वर्षों से, ग्रेजुएशन पास पटवारी दसवीं पास पटवारी की तुलना में समान वेतन और ग्रेड पे पा रहे हैं।

2013 में पटवारी पद के लिए आवश्यक योग्यता

2013 से, पटवारी पद की योग्यता दसवीं से स्नातक कर दी गई। हालाँकि, ग्रेजुएशन पास पटवारी को विकास और पंचायत विभाग से 10वीं स्तर पर आधारित ग्रेड-पे ही मिलता था। स्नातक पास पटवारियो ग्रेड पे को सभी विभागों में समान वेतनमान और शैक्षणिक योग्यता के क्रम में बढ़ाया गया है। जबकि राजस्व विभाग के पटवारियों को पहले से ही बढ़ा हुआ ग्रेड पे मिल चुका था।

Share this Article