खबरे

भारतीय खिलाडी प्रमोद भगत गोल्ड जितने से एक कदम दूर फाइनल में जा कर रचा इतिहास

टोक्यो में ओलंपिक चल रहे हैं और भारत देश के बहुत सारे प्रतिभाशाली खिलाड़ियों ने भारत का नाम वर्ष 2021 के टोक्यो ओलंपिक में उज्जवल किया है। उन्हीं खिलाड़ियों में से एक है प्रमोद भगत। प्रमोद भगत एक बैडमिंटन खिलाड़ी है। जिन्होंने टोक्यो पैरा ओलंपिक में भाग लिया था। टोक्यो पैरा ओलंपिक के मेन सिंगल चैंपियन में प्रमोद भगत ने जापान के फुजीहारा को 2-0 से हरा दिया।आज तक कभी भी भारत में ओलंपिक्स या पैरा ओलंपिक में ऐसा नहीं हुआ कि बैडमिंटन खेल की ओर से गोल्ड मेडल आया है। नामुमकिन को मुमकिन पैरा ओलंपिक गेम में प्रमोद भगत ने कर दिखाया।

भारत को 14वां पदक प्रमोद भगत की ओर से पैरा ओलंपिक के दौरान प्राप्त हुआ। टोक्यो पैरा ओलंपिक में भारत को अभी तक दो गोल्ड,6 सिलवर और 5 ब्रांच मिला है।इससे पहले भी बैडमिंटन की ओर से बहुत सारे पदक भारत में आए है। लेकिन गोल्ड पहली बार मिला है। सानिया नेहवाल को लंदन ओलंपिक में काश, पीवी सिंधु को रियो में पदक मिले थे।

बैडमिंटन खिलाड़ी प्रमोद भगत जैसे ही पैरा औलंपिक के फाइनल में पहुंचे। वैसे ही उन्होंने भारत के नाम से एक नया इतिहास रच दिया। प्रमोद भगत बैडमिंटन में गोल्ड जीतने वाले पहले पुरुष है। उनसे पहले जिन्होंने बैडमिंटन में जीत हासिल की थी वह सभी महिलाएं ही थी।

प्रमोद भगत का बाया पैर 5 वर्ष की उम्र में पोलियो के कारण अचल हो गया था। लेकिन उन्होंने कभी भी अपनी कमजोरी को अपने ऊपर हावी होने नहीं दिया उन्होंने अपने इस कमजोरी को ही अपनी शक्ति बनाया। प्रमोद भगत ने विश्व चैंपियनशिप में 4 गोल्ड जीता है साथ ही उन्होंने 45 से भी अधिक अंतरराष्ट्रीय पदक जीते हैं।

इससे पहले भी प्रमोद भगत ने वर्ष 2018 में एशियाई खेल में एक रजत पथ एवं एक कांस्य पदक जीता था।टोक्यो पैरा ओलंपिक खेलों में पहली बार बैडमिंटन को शामिल किया गया और पहली बार ही भारत के इस नौजवान ने इतिहास रच दिया वह भी गोल्ड जीतकर। दुबई बैडमिंटन चैंपियन में भी प्रमोद भगत ने दो गोल्ड जीता था।प्रमोद भगत को पूरा भारत सलाम करता है कि उन्होंने अपनी प्रतिभा से भारत के लिए गोल्ड मेडल जीता है। जो ना सिर्फ भारत देश के लिए बल्कि भारत देश में रहने वाले हर एक नागरिक के लिए गर्व की बात है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button