खबरेजरा हट केदेश दुनियाबॉलीवुड

गीता कपूर के घर तक पीछा करते हुए आया लड़का, मोहल्ले से करवाई माँ ने पिटाई

सोनी टीवी पर प्रसारित होने वाले डांस रियलिटी शो इंडिया बेस्ट डांसर के सीजन 2 के सेट पर कोरियोग्राफर गीता कपूर ने एक ऐसी बात बताई, जिसे सुनकर सभी लोग हैरान हो गए। आपको बता दें, इंडिया बेस्ट डांसर सीजन 2 अब फिनैले की ओर तेजी से बढ़ रहा है। इस डांस रियलिटी शो के सेट पर बेस्ट फाइव डांसर के बीच फिनाले ट्रॉफी के लिए जंग छिड़ी हुई है।  सभी डांसर इस शो के आखिर तक अपनी जगह बनाने के लिए पूरी मेहनत कर रहे हैं।  

जैसे-जैसे शो फिनाले की ओर बढ़ रहा है वैसे वैसे कंटेस्टेंट एक से बढ़कर एक डांस परफॉर्मेंस दे रहे हैं। स्टेज पर डांसर ऐसे ऐसे स्टेप कर रहे हैं, जिसे देखकर दर्शक दांतों तले उंगलियां दबाने पर मजबूर हो रहे हैं। हाल ही में इस शो का एक प्रोमो वायरल हो रहा है, जिसमें कोरियोग्राफर गीता कपूर ने अपने मोहल्ले की एक ऐसी यादों को लोगों के साथ शेयर किया जो सुनने में काफी इंटरेस्टिंग है।

गीता कपूर की मां ने उस लड़के की करवा दी पिटाई

दरसल जो प्रोमो दिखाया जा रहा है उसमें मनीष पॉल जो कि इस शो के होस्ट हैं, वे शो के तीनों जजेस यानी टेरेंस, मलाइका अरोड़ा और गीता कपूर से उनके पुराने मोहल्ले के बारे में पूछते हैं जहां वे पहले रहा करते थे। इसी प्रश्न का जवाब देते हुए कोरियोग्राफर और इस शो की जज गीता कपूर ने अपने मोहल्ले का एक काफी मजाकिया किस्सा लोगों के साथ शेयर किया। जिसमें वे कहती हैं, कि एक बार एक लड़का उनका पीछा करते हुए उनके अपार्टमेंट में घुस गया। 

तब गीता कपूर की मां ने मोहल्ले वालों को जमा करवा कर उस लड़के की अच्छी खासी पिटाई करवा दी और यहां सबसे मजेदार बात तो यह है, कि पिटाई करने वालों में उस लड़के का बड़ा भाई भी शामिल था। उस लड़के के बड़े भाई ने गुस्से से उसे कहा कि यह हमारे मोहल्ले की लड़की है, तुम हमारे मोहल्ले की लड़कियों के साथ इस तरह की हरकते नहीं कर सकते हो, यह गलत है।

मलाइका अरोड़ा दूसरों के घर पर देखा करती थी टीवी

इस बात के बाद मलाइका अरोड़ा खान ने भी अपने बचपन की कुछ यादें लोगों के साथ शेयर करते हुए कहा,  कि वे बचपन में अक्सर ही अपने पड़ोसी के घर पर रामायण देखने के लिए जाया करती थी। जहां उन्हें इडली खाने को भी मिलती थी। दूसरी ओर टेरेंस ने भी अपने बचपन का एक वाक्य शेयर करते हुए कहा कि वे जिस मोहल्ले में रहते थे वह पूरी तौर से कम्युनिटी था। जहां घरों में दरवाजे नहीं हुआ करते थे, यहां लोग आपके घरों में यूं ही आया जाया कर सकते थे।

Nausheen Ejaz

Hello, मेरा नाम Nausheen Ejaz है। मैं एक blogger और writer हूँ। मैं हर तरह के content लिख सकती हूँ। मैं पिछले 2 सालों से blog लिख रही है। और फ़िलहाल मैं यहां entertainment से जुड़ी हर तरह की खबरें और जानकारियां आपको लोगों को provide करने की कोशिश कर रही हूँ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button