खबरेजरा हट केबॉलीवुड

कोई मिल गया की नन्ही तीन बन गयी ऐसी की दे रही खूबसूरती में केटरीना को मात

बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में काफी ऐसे चेहरे हैं जिन्होंने अपने करियर की शुरुआत एक चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर की थी और आज एक सफल कलाकार के तौर पर अपने जीवन में आगे बढ़ रहे हैं। जैसा कि आप जानते हैं बॉलीवुड में उतार-चढ़ाव का दौर हमेशा से जारी रहता है जहां किसी व्यक्ति को नन्ही सी उम्र में काम मिल जाता है वहीं कुछ लोग सालों तक ब्रेक के लिए भी इंतजार करते हैं। आज आपको एक ऐसे ही नन्हे कलाकार के बारे में बताएंगे जिन्होंने चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर अपने करियर की शुरुआत की जो आज एक सुपरस्टार बनकर आप सबके सामने मौजूद हैं। हम बात कर रहे हैं भारत की स्टार अभिनेत्री हंसिका मोटवानी के बारे में। आइए जानते हैं उनके जीवन से जुड़े कुछ रोचक बातें।

हंसिका का जीवन परिचय

अभिनेत्री हंसिका मोटवानी का जन्म 9 अगस्त 1991 को हुआ था। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत टीवी सीरियल “शकलाका बूम बूम” से एक चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर की थी। इस सीरियल को बच्चों के द्वारा काफी पसंद किया जाता था। लोगों ने हंसिका गोभी चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर पसंद किया इसके बाद उन्होंने अपने कैरियर में पीछे मुड़कर नहीं देखा और आज एक स्टार अभिनेत्री बनकर इंडस्ट्री में मौजूद हैं।

अभिनेता रितिक रोशन और प्रीति जिंटा की फिल्म “कोई.. मिल गया” वर्ष 2003 में रिलीज हुई थी। यह एक सुपर डुपर हिट फिल्म साबित हुई इस फिल्म में एक छोटी सी लड़की का किरदार निभाया हंसिका मोटवानी ने जिसका नाम टीना था। टीना एक चंचल और चुलबुली लड़की का किरदार था जिसे हंसिका ने बेहद खूबसूरत तरीके से निभाया। छोटी सी बच्ची आज काफी बड़ी हो चुकी हैं और अपनी अदाओं से हर किसी को अपना दीवाना बनाने के काबिल हैं।

महज 15 साल की उम्र में बनी लीड एक्ट्रेस

अभिनेत्री हंसिका मोटवानी मुख्यतः साउथ फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय रहती है। जहां उन्होंने मात्र 15 साल की उम्र में एक लीड एक्ट्रेस के तौर पर तेलुगु फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया था। इसके बाद उन्हें बॉलीवुड की फिल्म “आप का सुरूर” में भी देखा गया जिसमें लीड एक्टर हिमेश रेशमिया थे। इस फिल्म के बाद वह काफी लोकप्रिय हुई और रातों-रात स्टार बन गई गई। इन्होंने तेलुगू फिल्म में डेब्यू ‘देसामुदुरू’ से किया था जो 2007 में रिलीज हुई थी। लेकिन लोकप्रियता तेलुगू फिल्म ‘कांतरी (2008)’ और ‘मस्का (2009)’ से अधिक प्राप्त हुई।

JP Choudhary

My name is Jagpravesh choudhary. I have 3 years experience as a writer.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button