खबरेजरा हट के

लता मंगेशकर इस राजा से करती थी प्यार! दोनों ने जीवन में नहीं की किसी से शादी, बने प्यार की मिशाल

भारतीय सिनेमा जगत में हमेशा जीवित रहने वाला नाम लता मंगेशकर अब लोगों के दिल में बस चुका है। हालांकि उनका पार्थिव शरीर इस दुनिया में मौजूद नहीं है लेकिन उनके गानों के माध्यम से उनका एहसास हमेशा लोगों के साथ जुड़ा रहेगा। 36 भाषाओं में हजारों गाने गा चुकी लता मंगेशकर अब इस दुनिया में मौजूद नहीं है इस खबर ने सभी को आहत कर दिया था। आज आपको इस लेख के माध्यम से यह बताएंगे कि लता मंगेशकर ने जीवन भर क्यों शादी नहीं की इसके पीछे क्या कारण रहा होगा आइए जानते हैं क्या है पूरी खबर।

लता मंगेशकर एक राजा से करती थी प्यार

दीदी लता मंगेशकर की प्रोफेशनल लाइफ के बारे में आप सभी बहुत कुछ जानते हैं लेकिन आज आपको उनकी पर्सनल लाइफ के बारे में कुछ खास बातें बताते हैं। लता जी ने अपने जीवन में कभी शादी नहीं की। इसके पीछे एक खास वजह ऐसी मानी जाती है कि वह एक राजघराने में राजकुमार से प्यार करती थी। राजकुमार का नाम राज सिंह था। वह लता जी के भाई के दोस्त थे और दोनों के बीच प्यार हो गया। दोनों के बीच शादी नहीं हो पाई तो लता जी ने जीवन भर कुंवारी रहने का ही फैसला किया और कभी भी शादी नहीं की।

राजा राज सिंह अपने वादे के चलते नहीं कर पाए लता से शादी

ऐसा माना जाता है कि महाराजा राज सिंह ने अपने परिवार वालों से वादा किया था कि वह कभी भी किसी साधारण लड़की से शादी नहीं करेंगे और अगर करेंगे तो राजघराने में ही करेंगे। इस वादे के कारण वह भी लता से शादी नहीं कर पाए और उन्होंने बिना शादी किए रहने का फैसला किया। कहा जाता है कि राज सिंह हमेशा एक वीडियो टेप अपने पास रखते थे जिसमें लता जी के गाए गाने सुनते रहते थे। दोनों की आपस की यह प्रेम कहानी शायद हर किसी को मालूम नहीं है। राजा क्रिकेट के बहुत शौकीन थे इस कारण वह बीसीसीआई से काफी लंबे समय तक जुड़े रहे।

दोनों अब इस दुनिया में नहीं है मौजूद

प्यार की मिसाल पेश करने वाले लता जी और महाराजा राज सिंह आज इस दुनिया में मौजूद नहीं है। महाराजा राज सिंह का 12 सितंबर 2009 को निधन हो गया था जबकि हाल ही में लता जी का निधन 6 फरवरी 2022 को हो गया। आपको बता दें कि लता जी लगभग 36 भाषाओं में 50,000 से अधिक गाने गा चुकी हैं। उन्हें इस उपलब्धि और अपने उत्कृष्ट योगदान के लिए भारत के सबसे बड़े सम्मान “भारत रत्न” से नवाजा गया।

JP Choudhary

My name is Jagpravesh choudhary. I have 3 years experience as a writer.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button