home page

ये शख्स बनेंगा अम्बानी परिवार की अरबो की सम्पति का मालिक

दोस्तों जिंदगी में आप चाहे कितना भी पैसा कमा लें लेकिन अनुभवी लोग बताते हैं कि इंसान के मन को संतुष्टि नहीं मिल पाती। जिसके पास जितना ज्यादा पैसा होगा उसके पास उस धन के समझाएं की और उसके भविष्य की चिंता हमेशा उस व्यक्ति के सिर पर मंडराती रहती है। ऐसा ही कुछ हमारे
 | 
ये शख्स बनेंगा अम्बानी परिवार की अरबो की सम्पति का मालिक

दोस्तों जिंदगी में आप चाहे कितना भी पैसा कमा लें लेकिन अनुभवी लोग बताते हैं कि इंसान के मन को संतुष्टि नहीं मिल पाती। जिसके पास जितना ज्यादा पैसा होगा उसके पास उस धन के समझाएं की और उसके भविष्य की चिंता हमेशा उस व्यक्ति के सिर पर मंडराती रहती है। ऐसा ही कुछ हमारे देश के जाने-माने उद्योगपति और एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी के साथ भी हुआ। मुकेश अंबानी की अरबों रुपयों की संपत्ति का वारिस कौन रहेगा इस बात की चिंता जाहिर तौर पर मुकेश अंबानी को रहती थी लेकिन अब इसका फैसला हो चुका है।

अरबो की सम्पति के मालिक है मुकेश अम्बानी 

बीते काफी लंबे अरसे से इस बात की चर्चा चल रही थी कि आखिर मुकेश अंबानी अपनी पूरी संपत्ति का वारिस किसे बनाएंगे? सामान्य तौर पर तो यही कहा जा रहा था कि अंबानी परिवार की पूरी संपत्ति उनकी आने वाली पीढ़ियों में समान रूप से वितरित कर दी जाएगी।

ये शख्स बनेंगा अम्बानी परिवार की अरबो की सम्पति का मालिक

लेकिन मुकेश अंबानी के द्वारा इस जटिल समस्या का बहुत ही अद्भुत समाधान खोज कर निकाला गया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मुकेश अंबानी के परिवार का कोई एक सदस्य मुकेश अंबानी की प्रॉपर्टी का वारिस नहीं होगा। बल्कि एक ऐसा अनोखा तरीका निकाला गया जिससे सभी लोग सहमत हो जाएंगे।

उनके बाद उनकी सम्पति इनको मिलेंगी 

बता दे कि मुकेश अंबानी अपनी पूरी जायदाद को एक ट्रस्ट के रूप जैसी संरचना में डालने पर विचार कर रहे हैं। जी हां दोस्तों लेकिन इसके पूरे सूत्रधार खुद अंबानी परिवार के सदस्य ही रहेंगे। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रिलायंस इंडस्ट्रीज की कमान संभालने वाली नई इकाई की प्रमुख हिस्सेदारी मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी सहित उनके तीनों बच्चों के हाथ में रहेगी। इकाई में मुख्य सलाहकार के रूप में खुद मुकेश अंबानी और उनके साथ काफी लंबे से रहे रहे अनुभवी अफसर रहेंगे।

ये शख्स बनेंगा अम्बानी परिवार की अरबो की सम्पति का मालिक

बता दें कि इस इकाई का प्रबंधन काफी अनुभवी और पेशेवर लोगों के हाथ में ही रहेगा। इसके साथ ही इसके प्रबंधन को संभालने की जिम्मेदारी ज्यादातर बाहरी लोगों के पास भी जाने वाली है। हालांकि अभी इस फैसले पर मुहर लगना बाकी है। ऐसा नहीं देखना यह होगा कि आने वाले समय में रिलायंस ग्रुप अपने लक्ष्य को किस दिशा में परिवर्तित करता है।