PM किसान योजना की 16वीं किस्त के लिए खुला रजिस्ट्रेशन पोर्टल, जाने कैसे घर बैठे कर सकते है आवेदन

Mohini Kumari
3 Min Read

PM किसान सम्मान निधी की 16वीं किस्त में नामांकन शुरू हो गया है। PM Kisan Yojana की पंद्रहवीं किस्त किसानों के खातों में पहुंच चुकी है। इस योजना के तहत किसानों को प्रति वर्ष छह हजार रुपये मिलते हैं।

केंद्रीय सरकार प्रत्येक चार महीने में योग्य किसानों के बैंक खातों में इस धन को तीन किस्तों में भेजती है। 15 किस्त किसानों को अब तक सरकार ने प्रदान किया है। अगर आप अब तक इस योजना का लाभ नहीं ले पाए हैं, तो आप 16वीं किस्त के लिए आवेदन कर सकते हैं।

PM किसान योजना में पंजीकृत होने के लिए आपको सरकारी कार्यालयों में घूमने की जरूरत नहीं है। आप घर बैठे इस कार्यक्रम से जुड़ सकते हैं। इसके बावजूद, इस योजना का लाभ सिर्फ योग्य और सभी शर्तों को पूरा करने वाले किसानों को मिलेगा।

किसानों को pmkisan.gov.in पोर्टल पर भी पंजीकृत होना चाहिए। इस पोर्टल पर घर बैठे रजिस्ट्रेशन भी किया जा सकता है। यहां हम हर कदम जानकारी दे रहे हैं।

PM Kisan Yojana में आवेदन कैसे करें

  • Pmkisan.gov.in नामक सरकारी वेबसाइट पर पहले लॉगइन करना होगा।
  • पोर्टल पर, आपको “फार्मर्स कॉर्नर” पर क्लिक करना है. फिर, आपको “न्यू फार्मर रजिस्ट्रेशन” का ऑप्शन चुनना है।
  • अब आपको अर्बन फार्मर या रूलर का चुनाव करना होगा। यदि आप गांव से हैं तो रूलर पर क्लिक करना होगा।
  • आपको अगले पेज पर आधार नंबर और मोबाइल नंबर डालकर राज्य सलेक्ट करना होगा। अब ‘Get OTP’ पर क्लिक करें।
  • मोबाइल नंबर पर आने वाले ओटीपी को डालकर “प्रोसीड फॉर रजिस्ट्रेशन” का ऑप्शन चुनना है।
  • आपको अगले पेज में अपने बैंक अकाउंट सहित अन्य जानकारी देनी होगी। ध्यान रखें कि आप अपने अपडेटेड आधार कार्ड के अनुसार यह विवरण भरें।
  • जब आप सभी आवश्यक विवरण भर चुके हैं, तो आपको आधार ऑथेंटिकेशन बटन पर क्लिक करना है।
  • अब आधार डालकर रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर सब्मिट करें।
  • आपको अगले पेज पर अपने खेत से संबंधित सभी जानकारी अपलोड करनी होगी, फिर सेव बटन पर क्लिक करना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन पूरा होने पर आपको मोबाइल पर एक मैसेज मिलेगा।

PM कृषि योजना के लिए आवश्यक कुछ शर्तें

इस योजना का लाभ सभी छोटे या सीमांत किसान परिवारों को मिलता है, जिनके पास दो हेक्टेयर से अधिक संयुक्त भूमि है।
इसमें राज्य या केंद्र सरकार के कर्मचारी या रिटायर्ड किसान परिवारों को शामिल नहीं किया गया है। इस योजना में सार्वजनिक क्षेत्र और सरकारी स्वायत्त निकाय के कर्मचारी और अधिकारी भी नहीं हैं। योजना से भी बाहर रखा गया है डॉक्टर, इंजीनियर, वकील और ऐसे लोग जिनकी मासिक पेंशन 10,000 रुपये से अधिक है। इस योजना में इनकम टैक्स भरने वाले किसान भी शामिल नहीं हैं।

Share this Article