दूल्हे को 3 दिनों तक दुल्हन ने नही मनाने दी सुहागरात, अगले दिन किया ऐसा काम की दूल्हे के उड़ गए होश

Mohini Kumari
4 Min Read

42 वर्षीय मुरादाबाद के एक ग्रामीण, जो लंबे समय से शादी करने का सपना पालकर बैठा था, उसके साथ अजीब धोखा हुआ। उन्होंने 1.11 लाख रुपये खर्च करके मुरादाबाद के कटघर क्षेत्र की एक युवती से शादी की। इसके लिए मध्यस्थता करने वाले दो युवकों को भी बीस हजार रुपए दिए गए। शादी के बाद दुल्हन को भी घर ले गया।

लेकिन तीन दिन तक उसने संबंध बनाने से भी मना कर दिया। दुल्हन चौथे दिन घर से 60 हजार रुपये और जेवर लेकर भाग गई। पीड़ित अब अधिकारियों के यहां अपने साथ छल करने वालों पर कार्रवाई की मांग करता है। उसने एसएसपी को शिकायत दी है और न्याय की मांग की है।

42 वर्षीय नरेंद्र कुमार, बिजनौर के किरतपुर थाना क्षेत्र के गांव रायपुर मोअज्जमपुर निवासी, बुधवार को मुरादाबाद एसएसपी को शिकायती पत्र देकर न्याय की मांग की है। नरेंद्र ने बताया कि उसने अपनी शादी कराने के लिए आसपास के गांव वालों से कहा था। ठीक दो हफ्ते पहले, पड़ोसी गांव ज्वालाचंडी से एक युवा अमरोहा के गजरौला से एक व्यक्ति को लेकर उसके पास आया था।

दोनों ने कहा कि एक लड़की मुरादाबाद में है, चल कार देखो। साथ ही, शर्त रखी शादी होने पर दोनों को 20 हजार रुपये देने होंगे। 18 नवंबर को, नरेंद्र कुमार अपने भाई वीरेंद्र सिंह और पिता चंदू सिंह के साथ मुरादाबाद रेलवे स्टेशन पर पहुंचा।

वहाँ उसे दोनों लोग मिले और उसे कटघर के भोलानाथ कालोनी में रहने वाले एक व्यक्ति के घर ले जाकर बताया कि यह लड़की का भाई है। बाद में, एक महिला ने लड़की की मां को बताया और दूसरी ने उसकी बहन को बताया। नरेंद्र को सभी ने एक लड़की दिखाई, जिसे परिवार पसंद करता था।

नरेंद्र ने बताया कि बाद में लड़की की मां और भाई ने कहा कि वे उतारने के बाद ही शादी करेंगे क्योंकि उनके पास लड़की की बीमारी के इलाज में एक लाख रुपये का कर्ज था। नरेंद्र सिंह का परिवार इसके लिए एक लाख रुपये देने को तैयार था। सब कुछ तय होने के बाद, उन्होंने 11 हजार रुपये देकर गोदभराई भी की।

22 नवंबर को, लड़की वालों को एक लाख रुपये और पड़ोसी गांव के एक युवा को बीस हजार रुपये दिए गए। बाद में दोनों को कोर्ट में ले जाकर नोटरी शपथपत्र पर शादी कर दी गई। लड़की को बाद में भोलानाथ कालोनी में ही फेरे भी कराए गए।

नरेंद्र ने बताया कि वह दुल्हन को विदा करके अपने घर ले गया था। लेकिन तीन दिन तक उसने संबंध बनाने से भी मना कर दिया। दुल्हन ने चौथे दिन सुबह चार बजे घर छोड़कर 60 हजार रुपये की नकदी और सोने-चांदी के जेवर ले गई।

नरेंद्र ने एसएसपी को प्रार्थनापत्र में बताया कि भोलानाथ कालोनी में उसने युवती को अपने साथ चलने को कहा और उसे गैंग रेप के मुकदमे में फंसवाने की धमकी देकर भगा दिया।

पीड़ित ने दस सराय पुलिस चौकी में शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। बाद में वह परेशान होकर बुधवार को एसएसपी ऑफिस पहुंचकर न्याय की मांग की। एसएसपी ने कटघर पुलिस को मामले की जांच करने का आदेश दिया है।

Share this Article