इस जानवर के दूध में होती है अल्‍कोहल की तगड़ी मात्रा, पीने के बाद चढ़ने लगता है शराब जैसा नशा

Mohini Kumari
3 Min Read

दूध सबसे पौष्टिक आहार है। क्योंकि इसमें कई विटामिन और मिनरल्स हैं यही कारण है कि डॉक्टर आपको हर दिन कम से कम एक गिलास दूध पीने की सलाह देते हैं। रात में गुनगुना दूध पीना बहुत फायदेमंद है। गाय का दूध सबसे अच्छा है। दूध पीने से शरीर को एनर्जी और पोषक तत्व मिलते हैं।

रात में गुनगुना दूध पीने से नींद अच्छी आती है, कुछ अध्ययनों से पता चला है। लेकिन ऑनलाइन पत्रिका कोरा ने सवाल पूछा कि किस जानवर के दूध में शराब की तरह नशीला पदार्थ होता है? (Which Animal Milk Is Contained In Alcohol) क् या आप इसका जवाब जानते हैं? आइए अजीब नॉलेज श्रृंखला में इस प्रश्न का सही उत्तर जानते हैं।

यह पूरी तरह से सच है, भले ही आपको इस पर यकीन नहीं हो रहा हो। दुनिया में दूध पीने से शराब की तरह नशा होता है। आप हैरान हो जाएंगे कि उस जानवर का नाम मादा हाथी यानी हथिनी है। विशेषज्ञों का कहना है कि हथिनी के दूध में 60% से अधिक अल्कोहल होता है। इसकी वजह भी बहुत अलग है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि हाथी अधिक गन्ना खाने और उसका रस पीने के कारण उसके शरीर में अधिक अल् कोहल होता है। यह हथ िनी के दूध में जाता है। और हथ िनी का दूध पीने से शराब की तरह नशा आने लगती है। यद्यपि, आप हथ िनी के दूध को शराब की जगह नहीं ले सकते। यह बहुत खतरनाक हो सकता है।

इंसानों के पीने के लायक नहीं होता

रिसर्च ने दावा किया है कि हथ िनी का दूध इंसानों को नहीं पीना चाहिए। क्योंकि इसमें घातक सामग्री होती है हथिनी के दूध में प्रोटीन और फैट दोनों काफी मात्रा में होता है। यह इतना ज्यादा होता है कि कोई व्यक्ति दूध पीने से डाइजेस् ट नहीं कर सकता।

यहां तक कि पाचन तंत्र भी प्रभावित हो सकता है। हाथिनी के दूध में लैक्टोस और ओलिगोसैकेराइड्स की मात्रा बहुत अधिक होती है, जबकि दूसरे पशुओं के दूध में इनकी मात्रा बहुत कम होती है। प्रोटीन को भी नुकसान होता है। हथ िनी का दूध पीना भूल जाओ।

Share this Article