दुनिया का सबसे भूतिया गांव जहां इंसान बन जाते है गुड़िया, कारण जानकर तो आपके दिमाग का भी हो जाएगा दही

Mohini Kumari
2 Min Read

जापान का नागोरो गांव दुनिया की सबसे डरावनी जगहों में से एक है. यहां बिजूका शैली की गुड़ियाओं ने मरने वाले या लंबे समय से लापता लोगों की जगह ले ली है, जिससे पूरा गांव एक डरावनी फिल्म की दीवार जैसा दिखता है। ट्रैवललोकल नामक वेबसाइट ने कहा कि नागोरो गांव कथित तौर पर “सबसे भुतहा” स्थानों में से एक है।

पूरा गांव गुड़ियाओं से भरा हुआ है: डेलीस्टार ने बताया कि गांव में गुड़ियाओं ने पहले लोगों की जगह ले ली है। ये गुड़ियाएं खेतों में काम करते हुए, स्कूलों की मेजों पर बैठे हुए या फिर दुकानों की ओर जाते हुए दिखती हैं। नागाोरों में बिजूका शैली की गुड़िया अधिकांश हैं। यह स्थान “शापित गांव” भी कहलाता है।

गांव में इतनी गुड़ियां क्यों हैं?

Nagoro doll village की इतिहास: गांव में कुल गुड़ियों की संख्या दस गुना से अधिक है। त्सुकिमी अयानो (Tsukimi Ayano) गांव में आईं तो वहाँ केवल ३० लोग ही रहते थे, इसलिए उन्होंने गुड़ियों से खाली जगह भरने का फैसला किया।

उन्होंने गुड़ियाओं को डराने के लिए नहीं बनाया था, लेकिन वे गांव में भयानक वातावरण बनाते हैं। Ayano ने गांव में अकेलेपन से निपटने के लिए इतनी सारी गुड़ियाएं रखी हैं। जापानी में गुड़िया को “काकाशी” कहा जाता है।

इतनी गुड़ियां बनाने के पीछे किसका हाथ?

त्सुकिमी अयानो, जिसे “स्केयरक्रो मदर” कहा जाता है इन गुड़ियाओं का निर्माण उन्हीं ने किया है। 2019 में अनुमान लगाया गया था कि गांव में 30 से कम लोग रहते थे। अयोना गांव की जनसंख्या में निरंतर गिरावट से बहुत परेशान हो गया, इसलिए उन्होंने इसे अपनी गुड़ियों से फिर से भर दिया।

गांव में हर साल होता है बिजूका फेस्टीवल

गांव में हर साल पतझड़ के महीने में एक बिजूका फेस्टीवल होता है, जिसमें एक फोटो प्रतियोगिता होती है। जो विजेता को बिजूका देता है। लोगों को बिजूका बनाने की भी ट्रेनिंग दी जाती है। इस खौफनाक गुड़ियांओं के गांव को हर साल लाखों लोग देखने आते हैं।

Share this Article