शाम होते ही सोने तरह चमकता है ये राजस्थान का ये फेमस किला, खूबसूरती को देखकर तो आपका भी दिल हो जाएगा खुश

Manoj aggarwal
2 Min Read

पधारो म्हारो देश…” यह कहावत राजस्थान (Rajasthan) की खूबसूरती और आतिथ्य को सही मायने में दर्शाती है। राजस्थान अपनी भव्य महलों, रंगीन संस्कृति (Colorful Culture), पहनावा और दिलचस्प कलाकृतियों (Artworks) के लिए विख्यात है।

इस राज्य की खासियत में एक अहम नाम है सोनार किला (Sonar Kila), जो जैसलमेर (Jaisalmer) में स्थित है और इसकी भव्यता और ऐतिहासिक महत्व (Historical Significance) के लिए जाना जाता है।

सोनार किला है राजस्थान की आन-बान और शान

सोनार किला जो लगभग 900 साल पुराना है. अपने पीले बलुआ पत्थर (Yellow Sandstone) से बना हुआ है, जो सूर्यास्त (Sunset) के समय सोने की तरह चमकता है। इस किले का मुख्य आकर्षण इसके चार दरवाजे हैं, जिन्हें पोल कहा जाता है: अखाई पोल, हवा पोल, सूरज पोल और गणेश पोल।

किले का निर्माण और इतिहास

इस अद्भुत किले का निर्माण 1156 में भाटी राजपूत राजा रावल जैसल (Rawal Jaisal) द्वारा करवाया गया था। इस किले ने कई युद्धों (Battles) का सामना किया है, जिसमें अलाउद्दीन खिलजी और मुगलों (Mughals) का हमला शामिल है। इसके बावजूद यह किला अपनी शान और शौकत के साथ खड़ा है।

वास्तुकला का अद्भुत नमूना

सोनार किले की वास्तुकला (Architecture) एक अद्वितीय मिश्रण है जो राजपूताना और इस्लामी शैली को दर्शाती है। किले में मौजूद हवेलियां, जैन मंदिर (Jain Temples) और दरवाजे इसकी वास्तुकला की भव्यता को और भी बढ़ाते हैं।

जैसलमेर किला है रेगिस्तान का जीवंत रत्न

सोनार किला न केवल जैसलमेर का मुख्य आकर्षण है बल्कि यह दुनिया के सबसे बड़े रेगिस्तानी किलों (Desert Forts) में से एक है। इस किले की सुंदरता और इतिहास ने विश्व प्रसिद्ध फिल्म निर्माता और लेखक सत्यजीत रे को भी प्रभावित किया था।

घूमने का सही समय और कैसे पहुंचे

जैसलमेर किले की यात्रा के लिए सर्दियों का मौसम (Winter Season) बेहतरीन समय होता है। रेल, सड़क और हवाई मार्ग (Rail, Road, and Air) से अच्छी तरह से जुड़े इस शहर में आने में आपको कोई समस्या नहीं होगी।

Share this Article