ऐसा कौनसा जानवर है जिसका दूध क़भी नही फटता, डायबिटीज के मरीजो के लिए माना जाता है अमृत जैसा

Mohini Kumari
3 Min Read

दूध को सबसे पौष्टिक भोजन माना जाता है। यह प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन बी-2, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, आयोडीन और फैट से भरपूर है। लेकिन अगर आपको बताया जाए कि दुनिया में एक ऐसा भी जानवर है जिसका दूध कभी नहीं फटता, तो क् या आप इस बात पर विश्वास करेंगे? शायद नहीं है।

यही प्रश्न ऑनलाइन प्लेटफार्म कोरा पर पूछा गया था। एक उपयोगकर्ता ने पूछा कि कौन सा दूध आसानी से फटता नहीं है? क् या वास्तव में कोई दूध ऐसा है? आज की अजबगजब नॉलेज सीरीज का विषय है। जवाब सुनकर आप हैरान हो जाएंगे। डायबिटीज से पीड़ित लोगों के लिए यह दूध एक “अमृत” है। यही नहीं, इसके नियमित प्रयोग से बुढ़ापा नहीं होता क्योंकि यह एंटी-एजिंग है।

डॉक्टर कहते हैं कि दूध फटना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। यह एसिडिटी और बैक्टीरिया से फट जाता है। भले ही दूध हो। बैक्टीरिया होने की संभावना सबसे अधिक होती क्योंकि वह कृषि फार्म में है। लेकिन कुछ दूध उत्पादक कंपनियां न्यूट्रीलाइजर, स्टार्च और फोरमिलीन जैसे कई केमिकल को मिलाकर इसे जल्द फटने से रोका जा रहा है।

यही कारण है कि कुछ दूध को तीन चार दिन तक रखने के बाद भी फट नहीं जाता। कुछ दूध एक हफ्ते तक फ्रिज में रखने पर भी नहीं फटता। आखिरकार, उसमें मिलाई गई दवाएं हैं। लेकिन इनकी गुणवत्ता पर संदेह है। तो कोई दूध नहीं फटता।

जवाब बहुत दिलचस्प है

जवाब में एक उपयोगकर्ता ने कहा कि ऊंटनी का दूध कभी नहीं फटता। लेकिन इसे एक और यूजर ने खारिज कर दिया। राघव यदु, जो फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी में साइंटिफिक ऑफ‍िसर है, ने लिखा कि नियमित रूप से दूध देने वाले जानवरों का दूध फटता है। इन जानवरों में दूध का फटना प्राकृतिक है। कोई जानवर ऐसा नहीं है जिसका दूध कभी नहीं फटता। यह सिर्फ झूठ है।

ब्‍लड शुगर को नियंत्रित करने की ताकत

ऊंटनी का दूध अत्यधिक ताकवतर है। इसमें रक्तचाप को नियंत्रित करने की क्षमता है। रोजाना ऊंटनी का दूध पीने से फास्टिंग शुगर कम हो सकता है। नाश्ते में इसे लें, तो दिन भर शुगर रहता है। यह दूध कोलेस्ट्रॉल और यहां तक कि चेहरे की उम्र बढ़ने से बचाता है।

इसलिए इसे अमृत कहते हैं। राजस्थान और गुजरात में ऊंटनी का दूध पीया जाता है। इससे कई उत्पाद बनाए जाते हैं, जैसे दूध, रबड़ी, घी, छाछ, दही, क्रीम, कुल्फी, आइसक्रीम और बर्फी।

Share this Article